Saturday 2 January 2021

पदाधिकारीयों_का_वेतन


♦️भारत का संविधान देश के विभिन्न कार्यालयों को चलाने के लिए कुछ महत्वपूर्ण पदों पर नियुक्ति करता है. विभिन्न कार्यों के लिए जिम्मेदार अधिकारियों को उनके काम के लिए भुगतान किया जाता है.

इस लेख में हमने भारत के राष्ट्रपति के वेतन, सर्वोच्च न्यायालय के मुख्य न्यायाधीश के वेतन और एक राज्य के राज्यपाल के वेतन आदि का उल्लेख किया गया है।

◾️वरियता_क्रम - पद - मूल_वेतन + अन्य_भत्ते


♦️राष्ट्रपति

◾️💲र. 500,000 (US $ 7,200) + भारत के राष्ट्रपति के लिए निर्धारित अन्य भत्ते


♦️उप राष्ट्रपति

◾️💲रपये400,000 (US$5,800) + भारत के उपराष्ट्रपति को अन्य भत्ते निर्धारित


♦️परधानमन्त्री

◾️💲रपये 160,000 (यूएस $ 2,300) (संसद सदस्य के रूप में प्राप्त वेतन) + संसद सदस्य के रूप में भत्ते + भारत के प्रधानमंत्री के लिए अन्य भत्ते


♦️राज्य के राज्यपाल

◾️💲र. 3,50,000 + राज्यों के राज्यपालों के लिए निर्धारित अन्य भत्ते


♦️सप्रीम कोर्ट के मुख्य न्यायाधीश

◾️💲रपये 280,000 + भारत के मुख्य न्यायाधीश के लिए निर्धारित अन्य भत्ते


♦️सप्रीम कोर्ट के अन्य न्यायाधीश

◾️💲रपये.250,000 + SC के जजों के लिए तय अन्य भत्ते


♦️भारत के मुख्य चुनाव आयुक्त

◾️💲रपये 250,000 + अन्य भत्ते


♦️भारत के नियंत्रक और महालेखा परीक्षक

◾️💲रपये 250,000 + अन्य भत्ते


♦️सघ लोक सेवा आयोग के अध्यक्ष

◾️💲रपये 250,000 + अन्य भत्ते


♦️भारत के कैबिनेट सचिव, भारत सरकार में वरिष्ठतम सिविल सेवक

◾️💲रपये 250,000 + अन्य भत्ते


♦️कद्र शासित प्रदेशों के उपराज्यपाल

◾️💲रपये 110,000 + केंद्र सरकार द्वारा तय अन्य भत्ते


♦️चीफ ऑफ स्टाफ (आर्मी, नेवी, एयर) भारतीय सशस्त्र बलों में जनरल और समकक्ष रैंक के अधिकारी

◾️💲रपये. 250,000 + अन्य भत्ते


♦️उच्च न्यायालयों के मुख्य न्यायाधीश

◾️💲नयायाधीशों के लिए निर्धारित रु. 250,000 + अन्य भत्ते .


♦️उच्च न्यायालयों के न्यायाधीश

◾️💲र. 225,000 + न्यायाधीशों के लिए तय अन्य भत्ते


No comments:

Post a Comment

Latest post

महत्वपूर्ण ऐतिहासिक घटना (1939-1947)

🟢 1939 📌 लिनलिथगो विधान (1939)   ✦ ब्रिटन फक्त युद्धात आक्रमकतेचा प्रतिकार करत आहे   ✦ 1935 च्या कायद्यात सर्वसहमतीनंतर बदल केले जातील   ✦...